What is Server meaning in Hindi: हम जब भी किसी बैंक या जन सेवा केंद्र पर कोई ऑनलाइन काम करवाने के लिए जाते है, तो एक शब्द हमें अक्सर सुनाने को मिलता है और वह है सर्वर। आखिर कभी अपने सोचा है कि यह सर्वर क्या होता है या फिर सर्वर किसे कहते है? और सर्वर डाउन है, सर्वर ख़राब है या फिर सर्वर नहीं आ रहे से क्या मतलब होता है। अगर नहीं आज हम आपको सर्वर से सम्बंधित सभी जानकारियाँ इस लेख में देने वाले है?

Server क्या है यह कैसे काम करता है। यह ऐसा सवाल है जिसका जवाब हर कोई जानना चाहते हैं। कभी आपने सोचा है कि जो कुछ भी आप इन्टरनेट के माध्यम से अपने मोबाइल या लैपटॉप पर देखते है, वह आपके ब्राउज़र या एप्लीकेशन में कैसे लोड होता है या प्रदर्शित होता है। यह डाटा कहाँ और कैसे सुरक्षित रखा जाता है और कैसे हमारी डिवाइस पर इसे दिखाया जाता है?

Server क्या है? What is Server Meaning in Hindi

Server एक प्रोग्राम या Hardware है जिसका काम Clients के अनुरोध को स्वीकार करना है, और नेटवर्क (LAN या WAN) से जुड़कर क्लाइंट के अनुरोध के जवाब के रूप में Data या जानकारी प्रदान करना है।

सरल शब्दों में, एक कंप्यूटर जो किसी Network में किसी अन्य Computer (Client) के अनुरोध को Serve करता है उसे Server कहा जाता है। यह अनुरोध किसी webpage या किसी अन्य services का हो सकता है। “Server” शब्द का प्रयोग आमतौर पर Information Technology के क्षेत्र में किया जाता है।

सर्वर का मुख्य काम Internet Users को सेवा देना है यानी कि उन्हें वो जानकारी प्रदान करना जिसके लिए वे अनुरोध करते हैं। किसी भी वेबसाइट या Channel का Data इन Server पर रहता है और जब भी हम उस वेबसाइट या यूआरएल को खोलना चाहते हैं तो हमारे Request के अनुसार server हमें जानकारी प्रदान करता है।

Web server आमतौर पर इंटरनेट से सभी पृष्ठों को आपके कंप्यूटर ब्राउज़र तक पहुंचाने के लिए HTTP Protocol पर काम करता है। Server एक Computer, Hardware या फिर एक Program भी हो सकता है, जिसे Computer के माध्यम से Load किया जाता है, ताकि वो दूसरे Computers को Information और Data send कर सके, Server का कार्य Internet Users को Service प्रदान करना होता है।

तो आप अब तक जान गए होंगे कि “Server” शब्द का क्या मतलब है। तो चलिए अब देखते हैं कि यह काम कैसे करता है।

Server की आवश्यकता क्यों है?

अब महत्वपूर्ण सवाल यह है कि एक सर्वर क्या करता है और हमें वास्तव में इसकी आवश्यकता क्यों है। जैसा कि आप जानते हैं कि सभी कंप्यूटर Internet नामक विशाल नेटवर्क की मदद से एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। तो, server इस नेटवर्क के कंप्यूटर में से एक है जो अन्य सभी कंप्यूटरों को सेवाएं प्रदान करता है। इंटरनेट के साथ, हम सभी एक दूसरे के साथ जुड़े हुए हैं। हालाँकि, हमें अभी भी एक दूसरे के साथ बातचीत करने के लिए एक माध्यम की आवश्यकता है और यहां server विशेष भूमिका निभाती है। उदाहरण के लिए मान लीजिए आप और आपका दोस्त इंटरनेट का उपयोग कर रहे हैं और आप अपने दोस्त के साथ बातचीत करना चाहते हैं।

हालाँकि, बातचीत करने के लिए आपको एक Application की आवश्यकता है, जैसे – whatsapp, जो आपको इंटरनेट पर अपने दोस्त के साथ बातचीत करने में मदद करेगा।

व्हाट्सएप आपके messages को ले जाएगा और इसे आपके friends को भेज देगा। इसलिए, whatsapp का server संदेश प्राप्त करने और उसे Targeted users तक पहुंचाने के लिए जिम्मेदार है।

इसलिए, सर्वर के बिना, इंटरनेट का कोई फायदा नहीं है। जैसा कि आप इंटरनेट पर एक दूसरे के साथ जुड़े हुए हैं, लेकिन communication स्थापित करने के लिए आपको एक server की आवश्यकता होती है।

अब, आइए एक नज़र डालें कि server कैसे काम करता है।

Server कैसे काम करता है?

एक server के काम को समझने के लिए, आपको पहले Browser और Web Server के बीच के तालमेल को समझना चाहिए।

जैसा कि आप जानते हैं कि web browser का उपयोग internet पर विभिन्न वेबसाइटों तक पहुँचने के लिए किया जाता है। तो चलिए जानते हैं कि Web Server काम कैसे करता है।

मान लीजिए आप एक कंप्यूटर स्क्रीन के सामने बैठे हैं और आपके दोस्त आपको “https://kyahai.net/server-kya-hai/” एक लिंक भेजते है और आपको इसे देखने को कहते है। जब आप अपने ब्राउज़र में इस लिंक को डाल कर एक्सेस करते है, तो web browser यूआरएल पर उपलब्ध जानकारी के लिए Web server को internet के माध्यम से request भेजता है और आपके सर्वर पर उपलब्ध जानकारी को आपके ब्राउज़र पर उपलब्ध करा देता है। यह उन्ही सब जानकारियों को उपलब्ध करता है आपने जिस पेज या video के लिए रिक्वेस्ट भेजा था। अब हम यह भी जान लेते है आखिर एक रिक्वेस्ट को भेजने और उसके रिस्पांस के बीच में क्या क्या होता है।

हम जब भी किसी पेज या वेबसाइट को खोलने के लिए ब्राउज़र में एक लिंक डालते हैं, तो ब्राउज़र लिंक को तीन भाग में विभाजित करता है। यह पहले protocol (http) को देखता है, फिर server name को खोजने की कोशिश करता है, और Name server प्राप्त होने पर Requested page को खोजने की कोशिश करता है।

सबसे पहले Browser का Name server उस सर्वर की IP Address जानने की कोशिश करता है, IP Address मिलने के बाद आपका Web Browser उस मशीन से जुड़ने की कोशिश करता है और पोर्ट 1 से जुड़ जाता है। एक IP Address के साथ कई Port होते हैं, और विभिन्न प्रयोजनों के लिए विभिन्न Ports का उपयोग किया जाता है। उदाहरण के लिए, मान लें कि आप HTTP Protocol के माध्यम से Server से किसी पेज या file का अनुरोध करते हैं, तो आपका ब्राउज़र port 1 से कनेक्ट हो जाएगा। फिर से यदि आप FTP प्रोटोकॉल में फ़ाइल अपलोड या प्रबंधित करना चाहते हैं, तो यह port 20 से जुड़ जाएगा। अलग-अलग कार्यों के लिए अलग-अलग Ports होते हैं।

इसलिए एक बार जब Browser IP Address और सही Port से जुड़ जाता है, तो server अनुरोध प्राप्त करता है और अपने स्वयं के सिस्टम को देखता है कि किस पेज के लिए अनुरोध किया गया है और क्या यह उस user को दिए जाने की अनुमति है। यदि सबकुछ ठीक हो जाता है, तो web server ब्राउज़र को HTML page भेजता है। ब्राउज़र HTML page से HTML tags को पढ़ता है और आपके अनुसार screen पर प्रस्तुत करता है।

Server के प्रकार (Types of Server in Hindi)

इंटरनेट पर Audio, Video और Text के रूप में बहुत सारी जानकारी उपलब्ध है, जिसे हम केवल एक Button पर क्लिक करके Access कर सकते हैं। कोई ऐसा स्थान जहाँ यह सभी Data Store होती है, उसे Server कहा जाता है।

नीचे आजकल उपयोग किए जाने वाले विभिन्न प्रकार के Servers (Types of Server In Hindi) की विस्तृत सूची दी गई है, जिनमें से प्रत्येक का अलग अलग कार्य है। इनमें से कुछ Dedicated होते हैं जिनका सिर्फ एक ही काम होता है और कुछ बड़े servers मिलकर सिर्फ एक ही काम करते हैं।

File Server

File Server का उपयोग Files को Store करने, Upload करने और Download करने के लिए किया जाता है।

Application Server

यह web server के समान है और एक web server जो सभी कार्य कर सकता है, यह सब कर सकता है। इसके अलावा, इसका उपयोग जटिल Application को संभालने के लिए किया जाता है, जैसे – java web Application आदि।

Database Server

यह एक Dedicated Server है जो किसी एप्लिकेशन के Database को store करने, Access करने और restore करने के लिए उपयोग किया जाता है।

Web Server

यह आपके ब्राउज़र में आपके द्वारा किए गए सभी वेब पेज request को संभालने के लिए जिम्मेदार है। उदाहरण के लिए – यदि आप वेबसाइट के URL में टाइप करते हैं, तो सबसे पहले अनुरोध web server को मिलेगा और web server उस विशेष webpage को आपको प्रस्तुत करेगा।

Proxy server

यह Privacy और security को बेहतर बनाने में मदद करता है। यह client और internet के बीच एक firewall की तरह है। यदि आप एक proxy server का उपयोग कर रहे हैं तो सबसे पहले आपका अनुरोध इसके माध्यम से जाएगा। यह आपके (client) और internet के बीच एक बाधा के रूप में कार्य करता है।

Print Server

यह एक नेटवर्क में सभी प्रिंट संबंधित कार्य को संभालने के लिए जिम्मेदार है।

Mail Server

यह नेटवर्क (इंटरनेट) में ईमेल भेजने और प्राप्त करने से संबंधित कार्य के लिए जिम्मेदार है।

DNS Server

DNS का मतलब Domain Name System होता है यह डोमेन रिकॉर्ड के database और उनके संबंधित IP Address को store करने के लिए उपयोग किया जाता है।

सर्वर किसे कहते है? What is Server in hindi?

आज मैंने इस पोस्ट में बताया कि Server क्या है (Server Meaning in Hindi) और यह कैसे काम करता है। अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूलें और अगर आपको इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल पूछना हो तो नीचे comment करके बताएं।

जय हिन्द जय भारत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here