VPN Kya Hai? VPN full form in Hindi

1
7
VPN Kya Hai VPN full form in Hindi

नमस्ते दोस्तों kya hai वेबसाइट पर आपका एक बार फिर से स्वागत है दोस्तों हमारा आज का विषय है VPN Kya Hai? VPN full form in Hindi और साथ ही साथ हम यह भी जानेंगे वीपीएन कैसे काम करता है और VPN kaise use karte hai ?

दोस्तों आप यह तो जानते होंगे की internet पर बहुत सारी वेबसाइट ऐसी हैं जो कई देशों में प्रतिबंधित है एक उदाहरण के लिए अगर हम बात करें गूगल की जोकि एक सर्च इंजन है और चाइना में पूरी तरीके से बैन है आप चाइना में रह करके गूगल को ओपन नहीं कर सकते है. ठीक इसी तरह भारत में भी बहुत सारी वेबसाइट और एंड्रॉयड एप्प बैन है जिनका प्रयोग हम भारत में नहीं कर सकते हैं.

ऐसे में इस तरह की websites या android app को चलाने के लिए या फिर सुरक्षा कि दृष्टि से अपनी पर्सनल डिटेल और एक्सेस की गयी वेब हिस्ट्री को छुपाने के लिए यदि किसी चीज का प्रयोग होता है तो वह चीज है VPN. और VPN kya hai, VPN full form in Hindi और VPN कैसे काम करता है आज हम इसी विषय के बारे में डिटेल से जानेंगे. तो आइये सबसे पहले जानते है VPN Kya Hai….

  VPN Kya Hai? VPN full form in Hindi  

VPN ka Hindi full form है “Virtual Private Network”. VPN एक कनेक्शन विधि है जिसका उपयोग निजी और सार्वजनिक नेटवर्क जैसे Wi-Fi या Intrnet की सुरक्षा और गोपनीयता बनाये रखने के लिए किया जाता है. जब हम किसी भी network का प्रयोग करते है तो hackers हमारी IP address, location detail और device id इत्यादि को ट्रेस कर हमारे द्वारा इन्टरनेट पर की गयी सभी गतिविधियों का पता कर सकते है या फिर हमारे पर्सनल डाटा को चुरा कर उसे सार्वजानिक करने कि धमकी देकर बदले में हमसे पैसों कि मांग भी कर सकते है.

ऐसे में Virtual Private Network एक ऐसी तकनीक है जो हमारे network डाटा को चोरी होने से बचाता भी है साथ ही साथ हमारी निजी गोपनीयता को बनाये भी रखता है. सुरक्षा कि वजह से ही “वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क” का प्रयोग अधिकतर ऑनलाइन बिज़नस करने वाले कार्पोरेट्स, ट्रेडर्स, ओर्गनिजेशन, सरकारी एजेंसियां करती है. VPN का प्रयोग लैपटॉप, मोबाइल और टेबलेट्स में किया जाता है.

  VPN कैसे काम करता है?  

VPN हमारी डिवाइस और इन्टरनेट को secure करने के लिए एक सुरक्षा आवरण कि तरह कार्य करता है. जब हम बिना VPN के इन्टरनेट का प्रयोग करते है तो हमारी IP address, device id और location detail सार्वजानिक ही रहती है. जिससे कोई भी हमें ट्रेस कर सकता है और हमारे द्वारा इन्टरनेट पर कि गयी गतिविधियों का पता कर सकता है.

जबकि Virtual Private Network हमारी device और इन्टरनेट के बीच ट्रैफिक को एनक्रिप्ट कर देता है जिससे हमारी IP address, device id और location बदल जाती है. या फिर दूसरे शब्दों में कहें तो उन पर एक प्रकार का आभासी मास्क चढ़ जाता है जिससे कोई भी व्यक्ति चाहकर भी हमें ट्रेस नहीं कर सकता है और हमारी सारी निजी जानकारी गुप्त ही रहती है.

VPN का प्रयोग कर हम ऐसी किसी भी वेबसाइट को एक्सेस कर सकते है जो हमारे देश में प्रतिबंधित है क्यूंकि जब हम वीपीएन का प्रयोग करते है तब हम किसी भी देश की IP को चुन सकते है ऐसे में हमारी ओरिजनल IP address बदल जाती है और हम बिना किसी रोक टोक के किसी भी वेबसाइट या एप्प को आसानी के साथ चला सकते है.

  Types Of VPN in Hindi  

Virtual Private Network मुख्यतः दो प्रकार का होता है. नंबर 1. Remote access  नंबर 2. Site-to-site. Remote access और Site-to-site vpn kya है आइये थोडा और विस्तार से जानते है इन दोनों प्रकार के वीपीएन के बारे में जो कि निम्न प्रकार से है.

  Remote access VPN क्या है?  

Remote access : रिमोट एक्सेस वीपीएन उपयोगकर्ता को प्राइवेट नेटवर्क से कनेक्ट करने और दूर से ही अपनी सेवाओं और संसाधनों तक पहुंचने की अनुमति देता है। उपयोगकर्ता और प्राइवेट नेटवर्क के बीच संबंध इंटरनेट के माध्यम से होता है और कनेक्शन बिलकुल सुरक्षित और निजी होता है। रिमोट एक्सेस वीपीएन कॉर्पोरेट के साथ-साथ घरेलू उपयोगकर्ताओं के लिए भी उपयोगी है। एक कॉर्पोरेट कर्मचारी यात्रा करते समय अपनी कंपनी के प्राइवेट नेटवर्क से कनेक्ट करने के लिए वीपीएन का उपयोग करता है और निजी नेटवर्क पर फ़ाइलों और संसाधनों को दूर से ही उपयोग कर सकता है।

Site-to-site वीपीएन क्या है?

Site-to-site : साइट-टू-साइट VPN को राउटर-टू-राउटर वीपीएन भी कहा जाता है और इसका प्रयोग अधिकतर कॉरपोरेट्स में किया जाता है। ऐसी कंपनियां जिनके ऑफिस विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों में होते है ऐसे में एक ऑफिस के नेटवर्क को दूसरे ऑफिस के नेटवर्क से जोड़ने में किया जाता है. जब एक ही कंपनी के कई कार्यालय साइट-टू-साइट वीपीएन प्रकार का उपयोग करके जुड़े होते हैं, तो इसे इंट्रानेट आधारित वीपीएन कहा जाता है

जब एक ही कंपनी के कई कार्यालय साइट-टू-साइट वीपीएन का उपयोग करके आपस में जुड़े होते हैं तो इसे इंट्रानेट (INTRANET) आधारित वीपीएन कहा जाता है और जब कंपनियां किसी अन्य कंपनी के कार्यालय से जुड़ने के लिए साइट-टू-साइट वीपीएन का उपयोग करती हैं तो इसे एक्स्ट्रानेट (EXTRA-NET) आधारित वीपीएन कहा जाता है।

  Benefits of VPN in Hindi  

VPN के कई लाभ है ऊपर हम आपको इसके बारे में विस्तार से बता चुके है लेकिन Virtual private network के मुख्य मुख्य लाभ जान लेना बहुत जरुरी है.

  1. IP address छुपाने के लिए : वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क से जुड़ने से आपका वास्तविक IP address छिप जाता है. जिससे कोई भी आपको ट्रेस नहीं कर सकता है.
  2. IP address बदलने के लिए : जब आप VPN का प्रयोग करते है तो आपको एक नया IP address मिल जाता है. जो आपकी लोकेशन को बदल देता है.
  3. Data transfers को Encrypt करने के लिए : एक वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क सार्वजनिक वाईफाई पर आपके द्वारा ट्रांसफर किए जाने वाले डेटा की सुरक्षा करता है.
  4. Mask your location : Virtual Private Network का प्रयोग करके उपभोक्ता अपनी कंट्री का address चेंज कर सकता है.
  5. Access blocked websites : apne desh me banned websites open करने के लिए वीपीएन की सहायता ले सकते है. VPN सहायता से हम सरकार द्वारा blocked website भी ओपन कर सकते है. क्यूंकि आप VPN कि मदद से अपनी कंट्री चेंज कर सकते है.
  6. आप दो प्रकार से VPN का प्रयोग कर सकते है Free VPN और Paid VPN.  Free VPN में आपको बहुत ज्यादा विज्ञापन दिखाई देंगे जबकि पेड VPN में आपको किसी भी प्रकार के विज्ञापन नहीं मिलेंगे.

  VPN kaise use karte hai?  

VPN के बारे में इतना कुछ जानने के बाद हमारे दिमाग में एक बात और आती है कि आखिर VPN kaise use karte hai? तो आइये जानते VPN का प्रयोग laptop और mobile में कैसे करते है?

  Mobile में VPN kaise Chalate hai?  

दोस्तों Mobile phone में VPN चलाना बहुत ही आसान है. Google Play store में बहुत सी Best Android Application for VPN है जिनकी सहायता से हम अपने Android phone VPN use कर सकते है. मैं आपको आज एक free vpn application के बारे में बताने जा रहा हूँ जिसकी मदद से आप अपने फ़ोन में बिना user पासवर्ड के ही vpn चला सकते है.

  1. Mobile Phone में VPN चलने के लिए सबसे पहले आपको एक VPN android application download करनी होगी जिसका नाम है Touch VPN. app को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे  ⇓ Download Touch VPN
  2. App को डाउनलोड करने के बाद VPN app को इनस्टॉल कर ले. Install करने बाद App को open कर ले.
  3. vpn kya haiआप जैसे ही app को open करते है तो जो स्क्रीन आपके सामने open होकर आएगी वो निचे दी गयी image के जैसे होगी.
  4. यहाँ आपको दो location दिखाई दे रही होंगी. जिसमे सबसे ऊपर You are at India लिखा हुआ दिखाई दे रहा होगा जिसका मतलब आपकी वर्तमान location से है और नीचे Canada लिखा हुआ है इसका मतलब आप जब कनेक्ट पर क्लिक करेंगे तो आपकी location Canada में बदल जाएगी.
  5. अपनी location चंगे करने के बाद कनेक्ट पर क्लिक करे. क्लिक करने के बाद आपका VPN setting हो जायेगा और आप VPN का मज़ा बड़ी आसानी के साथ उठा सकते है.

  Mobile Phone के लिए Best 5 VPN Application  

Touch VPN के अलावा और भी बहुत सारी VPN application Google Play store पर उपलब्ध है. मैं यहाँ आपको best 5 vpn application के नाम बताने जा रहा हूँ जिनका प्रयोग करके आप अपने mobile फ़ोन को vpn से कनेक्ट कर सकते है.

  1. ExpressVPN
  2. Windscribe
  3. NordVPN
  4. Tiger VPN
  5. SaferVPN

ये तो हुई best 5 VPN app for android mobile. अब जानते है Laptop और computer में VPN कैसे कनेक्ट करते है.

  Laptop या Computer में VPN kaise Chalate hai?  

Laptop या Computer में VPN चलने के लिए आपको Opera Developer Browser अपने सिस्टम पर इनस्टॉल करना होगा. यह ब्राउज़र बिलकुल फ्री है. आप चाहें तो डाउनलोड बटन पर क्लिक करके इसे डायरेक्ट अपने लैपटॉप या computer में डाउनलोड कर सकते है.   ⇓ Download Opera Developer Browser  .

  • ब्राउज़र को इनस्टॉल करने के बाद open कर ले. ब्राउज़र को open करने के बाद ऊपर आपको एक Menu का आप्शन मिलेगा जिस पर आपको क्लिक करना है.
  • Menu open करने के बाद आपको Setting का आप्शन मिलेगा जिस परा आपको क्लिक करना है.
  • setting open करने के बाद आपको Privacy and Security पर क्लिक करना होगा. जब आप Privacy and Security पर क्लिक करेंगे तब आपको वहां एक Enable VPN का आप्शन मिलेगा जिस पर आपको टिक करना होगा.
  • VPN Enable करते ही आपके ब्राउज़र में VPN activate हो जाएगा और आप VPN का लुफ्त बड़े मजे से उठा सकते है और blocked वेबसाइट भी बड़ी आसानी के साथ open कर सकते है.

निष्कर्ष :

दोस्तों ये तो जानकारी हुई VPN Kya Hai? VPN full form in Hindi के बारे में. आशा करता हूँ what is vpn in hindi कि जानकारी आपको जरूर अच्छी लगी होगी. आप हमें कमेंट में बता सकते है और इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ facebook और twitter पर भी शेयर कर सकते है.

#vpn #kya #hai #full #form #hindi

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here