आयुष्मान मित्र कैसे बने : देश में नागरिकों को एक बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए सरकार द्वारा कई प्रयास किये जा रहे हैं। केन्द्र सरकार व राज्य सरकार द्वारा स्वास्थ्य उद्देश्य के साथ – साथ राज्य के बेरोजगार लोगो को रोज़गार देना भी मुख्य है। क्या आपको पता है Ayushman mitra के क्या कार्य है और आयुष्मान मित्र कैसे बने ? अगर नही तो आप इस लेख को अंत तक पढ सकते ताकि आपको इसके बारे मे पूरी जानकारी मिल सके। 

Ayushman mitra कौन होता है?

भारत सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना का शुभारम्भ किया गया था, जिसके तहत देश के गरीब नागरिकों को बेहतर ढ़ग से स्वास्थ्य सुविधाएँ दी जा रही है। इस योजना के अंतर्गत ही देश के हर सरकारी अस्पताल की सहयोगतार्थ आयुष्मान मित्र की भर्ती की जाएगी। इस पोस्ट के लिए आवेदन करने वाले प्रार्थीयों को सरकारी व निजी अस्पतालों मे लगाया जायेगा, जहा वे अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे। इस योजना के बारे मे अगर स्वास्थ्य मंत्रालय की जानकारी देखें तो आयुष्मान योजना मे उन सभी लोगो को शामिल किया जायेगा जो आर्थिक रूप से कमजोर है, और आयुष्मान मित्र इस कार्य मे ही लोगो की मदद करने के लिए लगाए जायेंगे जो की अस्पताल के अधीन रहेंगे। 

Ayushman mitra के कार्य :

आयुष्मान मित्रों के कुछ मुख्य कार्य जिन्हे उनको करने होंगे। 

  • आयुष्मान मित्र जो भी अस्ताल कार्य करेंगे एवं आयुष्मान योजना के अन्तर्गत जारी साॅफ्टवेयर पर डाटा मैनेज करेंगे। 
  • आयुष्मान मित्रों को आयुष्मान योजना के साफ्टवेयर पर कार्य करना होगा और इस कार्य को करने के लिए आरोग्य मित्रों को प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। 
  • आयुष्मान मित्रों को आयुष्मान साफ्टवेयर मे बायोमेट्रिक के जरिये पहचान की पहचान करनी होगी और उसका डाटा बीमा ऐजेंसी भेजनी होगी जिसके बाद उसका पैसा उस बीमा ऐजेंसी द्वारा अस्पताल को भेजा जायेगा ओर मरीज का इलाज मुफ्त मे किया जायेगा। 

Ayushman mitra को लगाने के उद्देश्य

आयुष्मान मित्रों को लगाने कुछ उद्देश्य निम्न है –

  • आयुष्मान मित्रों को अस्पताल मे लगाने का उद्देश्य यह है की यह अस्पताल मे आने वाले मरीज़ों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा दिलाने मे मदद कर सके। 
  • आयुष्मान मित्रों को अस्पतालों मे लगाने का दूसरा उद्देश्य यह भी है की इससे बेरोजगारों को रोज़गार मिल सके। इस योजना के अंतर्गत सरकार का लक्ष्य 10 लाख रोजगार उपलब्ध करना है।

मरीजों को मिलेगी आर्थिक सहायता

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत मरीज अगर अस्पताल मे भर्ती होता है, और वह आर्थिक रूप से कमजोर है तो उन्हे 5,00,000 तक की बीमा सहायता राशि दी जाएगी, जो की राज्य की स्टेट हेल्थ ऐजेंसी द्वारा दी जाएगी। आयुष्मान मित्रों द्वारा मरीज के अस्पताल मे भर्ती होने पर उनकी डाटा एंट्री साफ्टवेयर मे करनी होगी, जिससे की स्टेट हेल्थ ऐजेंसी मरीज के क्लैम की राशि अस्पताल को दी जाये। 

Ayushman mitra Bharti के लिए योग्यता

आयुष्मान मित्रों की भर्ती हेतु कुछ योग्यताएं निर्धारित की गई है जो की निम्न है –

  • आयुष्मान मित्र की शिक्षा का मापदंड देखा जाये तो आवेदक कम से कम 12 कक्षा पास होना चाहिए। 
  • आयुष्मान मित्र हेतु आवेदन के लिए प्रार्थी उस राज्य का मूल निवासी होना चाहिए जिस राज्य मे वह आवेदन कर रहा है, हालांकि कुछ राज्यों मे आवश्यक नही है। 
  • आयुष्मान मित्रों का सम्पूर्ण कार्य कम्प्यूर पर साॅफ्टवेयर के माध्यम से ही किया जायेगा अतः प्रार्थी को कम्प्यूटर का प्रारम्भिक ज्ञान होना चाहिए।
  • आयुष्मान मित्र हेतु आवेदन करने वाले प्रार्थी की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। 

आयुष्मान मित्र हेतु चयन प्रक्रिया

आयुष्मान मित्र का चयन ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से किया जायेगा. कुछ राज्यों में इसके चयन की प्रक्रिया ऑनलाइन है तो वहीँ कुछ राज्यों में आयुष्मान मित्र की भारती ऑनलाइन की जाएगी.

जिन राज्यों में आयुष्मान मित्र भारती ऑफलाइन है उन राज्यों में आरोग्य मित्रों की भारती अस्पताल द्वारा द्वारा की जाएगी। जिसमे आशा बहुओ और स्वाथ्य कर्मियों को प्राथमिक दी जाएगी। राजस्थान मे आरोग्य मित्रों को स्वास्थ्य मित्र के नाम से जाना जाता है एवं इनकी भर्ती राजस्थान मे आर.एम.आर.एस ( राजस्थान मेजिकोज रिलिफ सोसाइटी )  द्वारा कि जाती है।

आयुष्मान मित्र आवेदन फॉर्म:

जिन राज्यों में चयन ऑफलाइन होगा उन राज्यों के कैंडिडेट को आवेदन फॉर्म भरकर कर जमा करना होगा. Ayushman Mitra awedan form Download करने के लिए आपको PMJY की वेबसाइट पर विजिट करना होगा, जहाँ से आप Ayushman Mitra form download कर सकेंगे.

आयुष्मान मित्र के लिए आवश्यक दस्तावेज:

आयुष्मान मित्र के लिए आवेदन करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी जो निम्न प्रकार से है.

  • पहचान पत्र: आधार कार्ड / वोटर आईडी कार्ड
  • दो फोटो
  • 10th की मार्कशीट

आयुष्मान मित्र की सैलेरी

आयुष्मान मित्र की सैलेरी राज्य सरकार तय करेगी, सामान्यतः एक आरोग्य मित्र की सैलेरी 10,000 से 15,000 के मध्य हो सकती है। इस सैलेरी के अलावा कुछ राज्य सरकार स्वास्थ्य मित्रों को इन्सेंटिव भी मिलता है। 

निष्कर्ष 

भारत मे आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को एक बेहतर स्वास्थ्य सेवा देने के लिए भारत मे आयुष्मान योजना के अंतर्गत अस्पतालों मे आयुष्मान मित्रों को लगाया जा रहा है। भारत सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना का शुभारम्भ किया गया है जिसके तहत देश के गरीब नागरिकों को बेहतर ढ़ग से स्वास्थ्य सुविधाएँ दी जाएगी। इस योजना के अंतर्गत ही देश के हर सरकारी अस्पताल की सहायोगतार्थ आरोग्य मित्रों की भर्ती की जाएगी। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत मरीज अगर अस्पताल मे भर्ती होता है और वह आर्थिक रूप से कमजोर है तो उन्हे 5,00,000 तक की बीमा सहायता राशि दी जाएगी जो की राज्य की स्टेट हेल्थ ऐजेंसी द्वारा दी जाएगी।

FAQ

प्रश्न 1 – आयुष्मान मित्र कौन होते है ?

उत्तर – आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत ही देश के हर सरकारी अस्पताल की सहायोगतार्थ आरोग्य मित्रों की भर्ती की जाएगी। इस पोस्ट के लिए आवेदन करने वाले प्रार्थीयों को सरकारी व निजी अस्पतालों मे लगाया जायेगा जहा वे अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे। 

प्रश्न 2 – आयुष्मान मित्रों का चयन कैसे होगा ?

उत्तर – आयुष्मान मित्रों की सीधी भर्ती केन्द्र या राज्य सरकार द्वारा नही की जाएगी, इस योजना मे आरोग्य मित्रों का चयन अस्पताल द्वारा किया जायेगा। आयुष्मान मित्र का चयन ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से होगा।

प्रश्न 3 – आयुष्मान मित्रों की सैलेरी क्या होगी ?

उत्तर – आयुष्मान मित्र की सैलेरी राज्य सरकार तय करेगी, सामान्यतः एक आरोग्य मित्र की सैलेरी 10,000 से 15,000 के मध्य हो सकती है। इस सैलेरी के अलावा कुछ राज्य सरकार स्वास्थ्य मित्रों को इन्सेंटिव भी मिलता है। 

प्रश्न 4 – आयुष्मान भारत योजना मे मरीज़ों को कितनी आर्थिक सहायता दी जाएगी ? 

उत्तर – आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत मरीज अगर अस्पताल मे भर्ती होता है और वह आर्थिक रूप से कमजोर है तो उन्हे 5,00,000 तक की बीमा सहायता राशि दी जाएगी जो की राज्य की स्टेट हेल्थ ऐजेंसी द्वारा दी जाएगी।

प्रश्न 5 – आयुष्मान मित्रों के मुख्य क्या है ?

उत्तर – आयुष्मान मित्र जो भी अस्पताल कार्य करेंगे एवं आयुष्मान योजना के अन्तर्गत जारी साफ्टवेयर पर डाटा मैनेज करेंगे साथ ही अस्पताल मे आने वाले मरीज़ों को उनके बीमा क्लैम करने मे मदद करेंगे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here