Bal Shramik Vidya Yojana UP: बाल श्रम पर रोक लगाने और उन्हें शिक्षित कर उन्हें उन्नति पथ पर ले जाने के उद्देश से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने बाल श्रमिक विद्या योजना का शुभ आरम्भ दिनांक 12 जून 2020 श्रम निषेध दिवस के अवसर पर कर दिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये इस योजना का शुभ आरम्भ किया.

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजना

बाल श्रमिक विद्या योजना क्या है

इस योजना में बाल मजदूरों को शिक्षा के साथ साथ मासिक खर्च भी देने का प्रावधान किया है. इस योजना का उद्देश्य काम करने वाले बच्चों को विद्यालय में पढने के लिए भेजने पर एक हजार रूपये प्रतिमाह और कामकाजी लड़कियों को विद्यालय पढने के लिए भेजने पर 1200 रूपये प्रतिमाह दिए जायेंगे.

इतना ही नहीं इस योजना के अंतर्गत बच्चो को आगे की पढाई पूरी करने के लिए प्रोत्साहन राशि की भी व्यवस्था की गयी है. जिसमे कक्षा आठ, नौ और हाई स्कूल उत्तीर्ण करने वाले बच्चों को छह-छह हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि भी मिलेगी.

उत्तर प्रदेश राज्य की राजधानी क्या है?

बाल श्रमिक विद्या योजना संक्षिप्त जानकारी

नाम Bal Shramik Vidya Yojana UP
किसने लांच की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी
विभाग श्रम विभाग
योजना तिथि बाल श्रम निषेध दिवस 12-जून-2020
लाभार्थी प्रदेश के बाल श्रमिक
योजना का लाभ लड़के – 1000 रूपए/माह
लड़की – 1200 रूपए/माह
प्रोत्साहन राशि 8th, 9th, 10th पास करने पर 6000 रूपये.
School Kaise khole puri jankari in Hindi

योजना के लिए पात्रता –

योजना के तहत उत्तर प्रदेश के 13 मंडल और 20 जिलों का चुनाव किया गया है. 2011 की जनगणना के अनुसार इन जिलों में सबसे ज्यादा बाल श्रमिक है. अभी इस योजना के अंतर्गत चुने गए 20 जिलों में से सौ-सौ बाल श्रमिक बच्चों को इसका लाभ मिलेगा. योजना के लिए लाभार्थी की पात्रता निम्न प्रकार से है.

  • इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के ही बाल मजदूर ही चुने जायेंगे.
  • योजना का लब्ध लेने के लिए लाभार्थी की न्यूनतम आयु 8 वर्ष और अधिकतम आयु 18 होनी चाहिए.
  • जिन बच्चों के माता-पिता अथवा दोनों में से किसी एक मृत्यु हो चुकी है उन्हीं बच्चों को योजना के तहत चुना जायेगा.
  • जिन बच्चों के माता-पिता अथवा दोनों में से कोई एक दिव्यांग  होगा तो योजना का लाभ मिलेगा.
  • अगर बच्चों के माता पिता गंभीर बीमारी से ग्रस्त है तो भी वे योजना का लाभ ले सकेंगे.
भारत के राज्यपाल एवं उनके नाम

बाल श्रमिक विद्या योजना उत्तर प्रदेश के मुख्य बिंदु–

इस योजना के पूर्व श्रम विभाग बाल मजदूरों के लिए पहले से ही कैश ट्रांसफर की योजना चला रहा था। जिसके तहत लाभार्थी बाल श्रमिकों को सालाना आठ हजार रुपये और हर महीने सौ रुपये की छात्रवृत्ति दी जाती थी।

योजना का मूल्यांकन करने के बाद प्रदेश सरकार ने योजना में परिवर्तन कर उसे बाल श्रमिक विद्या योजना BSBYN नाम दिया है। इस योजना की मुख्य बाते निम्न प्रकार से है-

योगी आदित्यनाथ का जीवन परिचय

योजना का उद्देश्य

इस योजना को लागु करने करने का उद्देश्य उन बच्चों का भविष्य सुरक्षित करना है जिनकी आर्थिक स्थिति मजबूत नहीं है या फिर उनके माता-पिता या दोनों में से किसी एक म्रत्यु हो चुकी है या फिर दिव्यांग अथवा गंभीर बीमारी से ग्रसित है. ऐसे परिवारों के बच्चे पढने लिखने की उम्र से किसी न किसी श्रम से जुड़ जाते है और निरक्षर ही रह जाते है.

योजना से लाभ :

इस योजना माध्यम से योगी सरकार का उद्देश्य इन बच्चों के भविष्य को सुरक्षित करना है और शिक्षित करने के साथ साथ स्वावलंबी बनाना है. सरकार इन बच्चों को आर्थिक मदद भी देगी जिससे वह अपने भरण पोषण भी का सकें.

कितनी आर्थिक सहायता मिलेगी–

योजना के माध्यम से सरकार बाल मजदूर यदि लड़का है तो 1000 रूपये प्रतिमाह के हिसाब से सालाना की आर्थिक मदद दी जाएगी, और यदि लड़की है तो योजना के तहत 1200 रूपये प्रतिमाह के हिस्साब से सालाना आर्थिक मदद दी जाएगी.

UP में बिजली बिल कैसे चेक करे?

सहायता राशि कैसे मिलेगी?

योजना के अंतर्गत दिए जाने वाले पैसे लाभार्थी के नाम पर बने खाते में DBT के माध्यम से प्रतिमाह डायरेक्ट ट्रान्सफर कर दिए जायेंगे.

प्रोत्साहन राशि कब और कितनी मिलेगी–

वह छात्र जो आठवी, नवी और हाईस्कूल उत्तीर्ण करेंगे उन्हें प्रोत्साहन राशि स्वरुप 6000 रूपये की अतरिक्त सहायता प्रदान की जायेगी.

प्रत्येक किले से कितने बच्चे चुने जायेंगे?

बाल श्रमिक विद्या योजना के अंतर्गत अभी तक 13 मंडलों के 20 जिले ही चुने गए है. योजना के अनुसार प्रत्येक जिले से 100 बच्चे प्रतिवर्ष चुने जायेंगे.

कितने बच्चों का चयन हो चूका है?

इस वर्ष के लिए 20 जिलों से उन 2000 बच्चों का चयन हो चूका है, जो बाल मजदूरी कर अपना जीवन यापन कर याहे है. चुने गए बच्चों का चयन 2011 की जन गणना के आधार पर किया गया है.

बाल श्रमिक विद्या योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म प्रक्रिया –

इस योजना के तहत 20 जिलों से 2000 बच्चों का चयन किया जा चूका है. और एनी जिलों के लिए योजना की शुरुआत नहीं हुई है जिसकी वजह से बाल श्रमिक विद्या योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया की जानकारी प्राप्त नहीं हुई है. जैसे ही योजना के लिए आवेदन चालू होगा जानकारी अपडेट कर दी जाएगी.

बाल श्रम हेल्पलाइन
0522-2245690-2234587

website: http://uplabour.gov.in/

कोशिश करने वालों की हार नहीं होती कविता : सोहनलाल द्विवेदी
Previous articleIndian Tiktok Mitron App download करे
Next articleअभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने की खुदखुशी : संक्षिप जीवन परिचय
कुलदीप मनोहर Kyahai.net हिंदी ब्लॉग के Founder हैं. मै एक Professional Blogger हूँ और SEO, Technology, Internet से जुड़े विषयों में रुचि रखता हूँ. अगर आपको ब्लॉगिंग या Internet जुड़ी कुछ जानकारी चाहिए, तो आप यहां बेझिझक पुछ सकते है. हमारा यह मकसद है के इस ब्लॉग पे आपको अच्छी से अच्छी जानकारी मिले.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here