वजन बढ़ने के 10 प्रमुख कारण Weight Gain Reasons in Hindi

Weight Gain Reasons in Hindi

              -: वजन बढ़ने के 10 प्रमुख कारण Weight Gain Reasons in Hindi :-

Weight Gain Reasons in Hindi

क्या आप जानते है मोटापा बढ़ने का क्या कारण है. यदि नहीं तो हम आज मोटापा बढ़ने के कुछ प्रमुख कारणों के बारे में जानेंगे जिससे हमारा मोटापा बढ़ता है.उम्र के साथ हाइट और शरीर बढ़ता रहता है लेकिन हष्टपुष्ट शरीर और मोटापे में अंतर होता है. मोटापा कई बीमारियों कि जड़ है. इसलिए इसकी जड़ को जानना जरूरी है.

क्या आप भी अपने मोटापे से परेशान है या फिर आपका weight तेजी से बढ़ रहा है और आप समझ ही नहीं पा रहे है कि आखिर आपके मोटापे का असली कारण क्या है. तो आज की इस हेल्थ टिप्स में हम उन Top 10 Weight Gain Reasons के बारे में जिनकी वजह से आपका वजन बढ़ता ही जा रहा है.

Weight  बढ़ने का सबसे प्रमुख कारण होता है हमारा खान-पान. हम खाने-पीने के रूप में जितनी भी Calories लेते है उतनी burn होना बहुत ही जरुरी है. यदि हमारे द्वारा ली गयी कैलोरी पूरी तरह से burn नहीं होती है तो weight बढ़ना तय है. इसका कारण यह है कि जो Calorie हमारे शारीर में बच जाती हैवो हमारे शरीर में fat के रूप में इकठ्ठा हो जाती है और हमारा वज़न बढ़ता जाता है.

यहाँ मैं आपको साथ Weight बढ़ने के Top  10 कारण share करूँगा

वज़न बढ़ने के 10 प्रमुख कारण- Weight Gain Reasons in Hindi

1. खान–पान :  Weight  बढ़ने का सबसे प्रमुख कारण होता है हमारा खान-पान. यदि हमारे खाने में कैलोरी की मात्र अधिक होगी तो वज़न बढ़ने के chances  ज्यादा हो जाते हैं. अधिक तला-भुना , fast-food, देशी घी, cold-drink  आदि पीने से शरीर में ज़रुरत से ज्यादा calories इकठ्ठा हो जाती  हैं जिसे हम बिना extra effort के burn नहीं कर पाते और नतीजा हमारे बढे हुए वज़न के रूप में दिखाई देता है. यदि आप इस बात की जानकारी रखें कि आपके शरीर को हर दिन कितने कैलोरी की आवश्यकता है और उतना ही consume करें तो आपका weight  नहीं बढेगा |

2. Inactive होना : अगर आपकी दिनचर्या ऐसी है कि आपको ज्यादा हाथ-पाँव नहीं हिलाने पड़ते तो आपका weight बढ़ना लगभग तय है. ख़ास तौर पर जो लोग घर में ही रहते हैं या दिन भर कुर्सी पर बैठ कर ही काम करते हैं उन्हें जान-बूझ कर अपनी daily-life  में कुछ physical activity involve  करनी चाहिए. जैसे कि आप lift  की जगह सीढ़ियों का प्रयोग करें, अपने interest का कोई खेल खेलें , जैसे कि badminton, table-tennis, इत्यादि. यदि आप एक treadmill या एक gym cycle afford  कर सकें और उसे नियमित रूप से प्रयोग करें तो काफी लाभदायक होगा. वैसे सबसे सस्ता और सरल उपाय है कि आप रोज़ कुछ देर टहलने की आदत डाल लें |

3. अनुवांशिक(Genetics) कारण: यदि आपके माता-पिता में से किसी एक का  भी  वज़न बहुत ज्यादा है तो आपका वज़न भी ज्यादा होने की सम्भावना बढ़ जाती है |  इसके आलावा genetics का असर आपको कितनी भूख लगती है, आपके शरीर में कितना far और muscle है , पर भी पड़ता है | यह व्यक्ति के metabolic rate और उसका शरीर inactive होने पर कितनी कैलोरी जलाता है इस पर भी प्रभाव डालता है|

4. Age :  उम्र के साथ weight का बढ़ना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जैसे जैसे age  बढती है हमारी मान्श्पेशियाँ fat  में convert  होती जाती हैं | Fat की मात्र बढ़ने के कारण diabetes और hypertension होने का खतरा बढ़ जाता है | उम्र बढ़ने के साथ साथ हमारी मेटाबोलिस्म में भी कमी आ जाती है , इस वजह से औरतों में वज़न बढ़ने की सम्भावना बढ़ जाती है |

5. Gender:   आपका स्त्री या पुरुष होना भी  आपके weight पर असर डालता है | आमतौर पर स्त्रीयां पुरुषों से कम calories use करती हैं , इसलिए उनका वज़न बढ़ने की सम्भावना ज्यादा होती है | स्त्रीयों के body में fat  की मात्रा पुरुषों की अपेक्षा अधिक होती है | एक normal weight की स्वस्थ्य स्त्री के शरीर में 25% fat content होता है जबकि ऐसे ही  एक पुरुष में यह मात्र सिर्फ 15%  होती है |

6. मनोवैज्ञानिक कारण : कई बार weight बढ़ने का कारण psychological  होता है | Emotional problems, या  depression की वजह से व्यक्ति ज्यादा खाने-पीने लगता है | जिस वजह से वज़न बढ़ जाता है.
7.गर्भावस्था : Pregnancy के दौरान weight का बढ़ना एक सामान्य प्रक्रिया है | आमतौर पर किसी महिला का वज़न 5 से  10 किलो तक बढ़ जाता है, जो कि शिशु को पोषण पहुंचाने के लिए ज़रूरी है |

8. दवाईयां (Medicines) : कुछ ख़ास तरह की दवाईयां आपका weight बढ़ा सकती हैं. जैसे कि antidepressants या  corticosteroids, Birth Control pills खाने से भी वज़न ढाई किलो तक बढ़ सकता है |

9. बीमारी : बीमारी में भी weight बढ़ सकता है, क्योंकि इस दौरान इंसान की गतिविधियाँ बहुत कम हो जाती हैं, और body  में fat बढ़ सकता है |

10.Smoking छोड़ने पर:  सिग्रेट पीना छोड़ने के बाद व्यक्ति का वज़न 3-4 किलो तक बढ़ सकता है | पर smoking quit करने पर होने वाले फायदे इसकी अपेक्षा कहीं अधिक हैं,  इसलिए इसे छोड़ने में ही भलाई है |

यदि आप मोटेपन से परेशान है तो मैं आपको अपने अगले लेख में बताऊंगा पेट का मोटापा कैसे कम करें |

अब आप खुद ही समझ सकते है कि कही आपका मोटापा इन्ही किसी कारणों की वजह से तो नहीं है |

 

4 COMMENTS

  1. […] प्रोटीन से भरपूर होने के कारण अांवला शरीर के मेटाबोल्जिम को मेन्टेन बनाएं रखता है और प्रोटीन सिंथेसिस की प्रक्रिया को बढ़ा देता है. प्रोटीन सिंथेसिस की प्रक्रिया के बढ़ जाने के कारण अनचाहे फैट को धीरे धीरे जल जाता है और शरीर का मेटाबोल्जिम मेन्टेन होने लगता है. मेटाबोलिक रेट को प्रॉपर बनाये रखने के कारण तो शरीर का extra fat घटने लगता है। आमला जूस के साथ आंवले का मुरब्बा प्रतिदिन प्रयोग करने से weight loss करने में और भी तेजी आ जाती है. वजन बढ़ने का कारण […]

  2. Hello Sir aapka ye artical padhkar maja aa gaya. Mai bhi apne weight ko lekar bahut paresaan hu iss artical ke dwara muje kafi madad milegi. Iss artical me bataye gaye sabhi chizo ko mai apply karunga.. Muje ummed hai ki muje iska badiya result milega. Thanks Again For this Usefull artical..

Comments are closed.