Aarogya Setu App क्या है? कैसे काम करता है, और कितना सुरक्षित है

Aarogya Setu App: कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण का प्रसार बहुत ही तेजी से फैलता जा रहा है, जिसके रोकथाम के लिए सामाजिक दुरी बनाने जैसे नियम ही अभी तक कारगर सिद्ध हो रहे है. जहाँ अभी तक इस वायरस का कोई भी इलाज नहीं उपलब्ध नहीं हो पाया है.

वहीँ Aarogya Setu App की मदद से हम उन संक्रमित रोगियों से अपना बचाव कर सकते है, जो हमारे आस पास है और हमें उनकी जानकारी भी नहीं है. क्या है ये Aarogya Setu App और कैसे काम करता है आज हम इसी विषय के बारे में जानेंगे.

Aarogya Setu App क्या है?

Corona Virus महामारी से निपटने के लिए भारत सरकार ने 2 अप्रैल को एक नया ऐप लॉन्च किया गया था। इस Corona Virus tracking app को Aarogya Setu App कहा जाता है, यदि आप इस एप्प का प्रयोग करते है और आप किसी corona वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति के नजदीक जाते है, तो ये उपयोगकर्ताओं को चेतावनी देते हैं।

ऐप को केंद्र सरकार और NIC eGov Mobile Apps द्वारा विकसित किया गया है, जो भारत में अधिकांश सरकारी ऐप के लिए जिम्मेदार है। ऐप IOS और Android दोनों पर उपलब्ध है. जिसे आप play store से download कर सकते है.

Aarogya Setu App को उपयोगकर्ताओं पर नज़र रखने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिससे यह डाटा निकालने में आसानी हो सके कि, कौन-कौन से लोग इस वायरस से संक्रमित हो सकते है, या फिर किसके संक्रमित होने के मौके ज्यादा है.

Life Insurance kya hai ?

Aarogya Setu App कैसे काम करता है?

यह ऐप फोन की ब्लूटूथ और जीपीएस तकनीक का उपयोग करता है। यह अन्य सभी अरोग्य सेतु उपयोगकर्ताओं का एक रिकॉर्ड रखेगा जो उसने ब्लूटूथ तकनीक का उपयोग करते हुए स्टोर किया था। यह उन सभी स्थानों के जीपीएस लॉग का भी उपयोग करेगा जो डिवाइस द्वारा 15 मिनट के अंतराल पर किया गया था।

NITI Aayog के सीईओ अमिताभ कांत के अनुसार, यह एप्प केवल 13 दिनों में 50 मिलियन डाउनलोड तक पहुंचने वाला दुनिया का सबसे तेज़ ऐप बन गया है। और वर्तमान में अब तक 11.39 करोड़ लोग इस एप्प का इस्तेमाल कर रहे है.

ये रिकॉर्ड फोन पर तब तक संग्रहीत किए जाते हैं जब तक कि कोई भी उपयोगकर्ता सकारात्मक परीक्षण नहीं करता है, या एप्लिकेशन में स्व-मूल्यांकन सर्वेक्षण में COVID-19 के लक्षणों की घोषणा करता है। ऐसे मामलों में, रिकॉर्ड सर्वर पर अपलोड किए जाते हैं।

ऐप 11 भाषाओं में उपलब्ध है। सभी केंद्र सरकार के अधिकारियों, जिसमें आउटसोर्स कर्मचारी शामिल हैं, को इसे डाउनलोड करने के लिए निर्देशित किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में लोगों से ऐप डाउनलोड करने की अपील की।

Online FIR कैसे करे? e-FIR Registration Process in UP

कितना सुरक्षित है आरोग्य सेतु एप्प:

उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता या तकनीकी आधार पर सुरक्षा की बात की जाये तो बहुत से विशेज्ञ इस पर एक मत नहीं है. जहाँ कोई इसके गोपनीय नीति को लेकर सवाल उठा है तो कोई इसके पक्ष में दलील दे रहा है. सच्चाई क्या है ये समझना थोडा मुश्किल है.

लेकिन उपभोगकर्ताओं की kovid-19 से सुरक्षा की दृष्टि से देखा जाए तो यह एप्प बहुत की जरुरी है, क्यूंकि इस एप्प की मदद से हम अपने आ पास के संक्रमित ररोगियों से अपना बचाव कर सकते है. लेकिन यह उपयोगकर्ताओं की ईमानदारी पर निर्भर करता है, वो इस के माध्यम से कैसी जानकारी दे रहे है.

यदि कोई एप्प उपयोगकर्ता एप्प में पूछे जाने वाले सवालों का गलत जवाब देता है तो, वह स्वयं के साथ-साथ अपने संपर्क में आने वाले लोगों को भी खतरे में डाल सकता है.

यदि आप इस एप्प का प्रयोग कर रहे हित तो आपको पूछी गयी सभी जानकारियों का बिलकुल सही सही जवाब देना चाहिए.

इसके अलावा, यह ऐप सेल्फ असेसमेंट टेस्ट और देश भर में हेल्पलाइन नंबरों की पूरी सूची जैसी सुविधाएँ भी प्रदान करता है। एक ट्विटर फीड भी है जो स्वास्थ्य मंत्रालय के सभी नवीनतम ट्वीट्स को दिखाता रहता है।

Online Bijli Bill Check In UP

Aarogya Setu app कैसे Download करे?

आरोग्य सेतु ऐप एंड्रॉइड और आईओएस दोनों पर उपलब्ध है, और इसे संबंधित ऐप स्टोर के माध्यम से डाउनलोड किया जा सकता है। यदि आप google play store इस इस एप्प को download करना चाहते है तो…

  • सबसे पहले मोबाइल में प्ले स्टोर ओपन कर ले.
  • सर्च बार में “AarogyaSetu” लिखें. सर्च पर क्लिक करे.
  • ध्यान रहे Aarogya और Setu के बीच में स्पेस न दे.
  • सर्च होने के बाद एप्प के Icon पर क्लिक करे.
  • इसके बाद Install बटन पर क्लिक करे.
  • अप्प इनस्टॉल हो जायेगा.

यहाँ Android और Ios दोनों के download लिंक दिए है जिन्हें आप बिना प्ले स्टोर ओपन करे ही download कर सकते है.

Android: Link
iOS: Link

Voter List Me Name Add Karna Hai Kaise Kare

आरोग्य सेतु ऐप कैसे प्रयोग करे?

  • अपने स्मार्टफोन पर आरोग्य सेतु ऐप खोलें
  • अब, इच्छित भाषा चुनें और अगला टैब करें
  • ऐप 11 भाषाओं को सपोर्ट करता है- अंग्रेजी, हिंदी, गुजराती, मराठी, पंजाबी आदि।
  • अब, सूचना पृष्ठ के अंतिम स्लाइड पर रजिस्टर नाउ बटन पर टैप करें
  • सभी आवश्यक अनुमति दें
  • जैसा कि पहले ही उल्लेख किया गया है, ऐप काम करने के लिए ब्लूटूथ और स्थान डेटा का उपयोग करता है, इन सेवाओं तक पहुंच प्रदान करने की आवश्यकता है।
  • अगली स्क्रीन पर, अपना फ़ोन नंबर दर्ज करें, सबमिट करें टैप करें।
  • मैन्युअल रूप से OTP दर्ज करें या स्वचालित रूप से पता लगाने के लिए एप्लिकेशन की प्रतीक्षा करें.
  • अब, ऐप पिछले 30 दिनों में कुछ आवश्यक विवरण जैसे नाम, आयु, लिंग, पेशे और आपकी यात्रा के इतिहास के लिए पूछेगा। सबमिट पर टैप करें
  • उपयोगकर्ता व्यक्तिगत विवरण पृष्ठ पर बॉक्स की जांच करके आवश्यकता के समय में भी स्वयंसेवा कर सकते हैं।
  • इसके बाद, ऐप ऐप के होमपेज पर रीडायरेक्ट करेगा.
  • जहां यह आपके जोखिम के स्तर को दिखाएगा,.
  • इसलिए, यदि इसे ‘आप सुरक्षित हैं’ कहते हुए पाठ के साथ ग्रीन में चिह्नित किया गया है, तो चिंता करने की कोई बात नहीं है।

जैसा की पहले ही बताया था की इस एप्प में मांगी गयी सभी जानकारियों का विवरण सही तरीके से भरे. या आपके और आपके संपर्क में आने वाले लोगों के लिए बहुत जरुरी है.

Voter List me name kaise pata kare 2020

विशेष सुचना:

दोस्तों आप में से बहुत से लोग मुझे जानते है. लेकिन शायद ही किसी को जानकारी हो, मैं अभी हाल ही में कुछ माह पूर्व TB यानि कि tuberculosis से पीड़ित हो गया था और मेरा ट्रीटमेंट अभी तक चल रहा है. इस दौरान मैं नियमित रूप से ब्लॉग्गिंग नहीं कर पा रहा थी.

मुझे यह कहने में कतई शर्म नहीं महसूस होती है कि मैं TB का मरीज हूँ. क्यूंकि रोग से तो कोई भी व्यक्ति पीड़ित हो सकता है ऐसे में उसे छुपाना स्वयं और अन्य लोगो के लिए कितना घातक हो सकता है. यह कोरोना के केस में कई बार देखने को मिला है.

इसलिए आप लोगों से निवेदन इस जब आप इस एप्प का प्रयोग करे अपनी किसी भी मर्ज न छुपाये जो जानकारी पूछी जाए उसे सही तरीके से ही भरे. सतर्क रहे और सावधान रहे.

जय हिन्द जय भारत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here