NRE – NRO Account Kya hai :Nre Nro account बैंकिंग प्रणाली का एक हिस्सा है जिसके अंतर्गत विदेशो में रहने वाले NRI भारतीय Nre या Nro account के माध्यम से अपना पैसा भेज सकते है. हालाँकि NRE और NRO Account दो भिन्न प्रकार के account है जिनमे बहुत सारी समानता होने के साथ साथ कुछ भिन्नता भी. आइये सबसे पहले जानते है क्या है Nre Account ?

nre nro account kya hai
nre nro account kya hai

What is NRE Account / Nre Account Kya hai ?

NRE account का full form NON Resident External होता है.  यह खाता विदेशो में कमाए गए धन को भारत में भेजने में मददगार होता है. यह अकाउंट Saving, Currunt या फिर recurring deposit account भी हो सकता है. इस प्रकार के NRI account को खाता धारक के अलावा स्थानीय भारतीय निवासी भी चला सकता है. स्थानीय निवासी भारतीय देश में स्थानीय मुदा में पैसा जमा कर सकता है। लेकिन इसके लिए उसके पास पावर ऑफ अटॉर्नी होना जरूरी है।

What is NRO Account / NRO Account Kya hai ?

NRO account का full form Non Resident Ordinary होता है. एनआरओ खाता खोलने पर account holder को देश में या फिर विदेश में कमाई गया धन जमा करने की सुविधा मिलती है। NRO Account भी NRE की तरह Saving, Currunt या फिर recurring deposit account हो सकता है. लेकिन इसके लिए Joint Account खाताधारक का भारतीय निवासी होना जरूरी है। इस खाते में विदेशी मुद्रा ममय हुआ धन, प्रॉपर बैंकिंग चैनल या एनआरई खाते से हासिल रेमिटेंस या भारत से हासिल पुराना बकाया जमा किया जा सकता है। इस खाते में जमा हुई रकम का इस्तेमाल भारत में भुगतान या निवेश में ही किया जा सकता है।

NRE या NRO Account Kaise khole :

NRE और NRO account खोलने की प्रक्रिया बहुत आसन और एक जैसी ही है. इसके लिए Nri को किसी अधिकृत बैंक में आवेदन करना होगा। आप चाहे तो बैंक के कॉल सेण्टर पर भी फ़ोन करके जानकारी प्राप्त कर सकते है. कई बार बैंक आवेदक के ईमेल पर भी NRE या NRO अकाउंट का फॉर्म भेज देते है. आइये जानते है वो कौन से डाक्यूमेंट है आपको जिनकी आवश्यकता होगी.

NRE या NRO Account खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज :

NRE और NRO account खोलने के लिए आपको बिजली, पानी, टेलिफोन का बिल, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, रेजिडेंट परमिट, विदेशी या भारतीय बैंक के स्टेटमेंट जैसे दस्तावेज की आवश्यकता होगी । साथ ही इसमें फॉरेक्स रेमिटेंस या एनआरई खाते से ट्रांसफर के जरिए न्यूनतम राशि जमा कराना जरूरी है।

Difference Between NRE and NRO Account :

यदि आप NRI है और आप इस तरीके का खता खुलवाना चाहते है तो आपको सबसे पहले यह जानना बहुत जरूरी है कौन सा Account आपके लिए उपयुक्त रहेगा. एनआरई या एनआरओ खातों में क्या अंतर है ? Difference between NRE and NRO Account.

  1. NRE account विदेश में कमाए धन को जमा कराने के लिए होता है जबकि NRO में भारत में कमाई रकम जमा की जा सकती है।
  2. NRE में joint account में सिर्फ NRI ही संयुक्त खाताधारक हो सकते हैं जबकि NRO में संयुक्त खाताधारक निवासी या अनिवासी भारतीय हो सकता है।
  3. एनआरई एकाउंट से पैसा एनआरओ अकाउंट में ट्रांसफर किया जा सकता है लेकिन एनआरओ से एनआरई अकाउंट में पैसा नहीं ट्रान्सफर किया जा सकता है.
  4. एनआरई खाते से पूरा पैसा निकाला जा सकता है लेकिन एनआरओ में ऐसा करना संभव नहीं है.
  5. NRO में जमा मूलधन का इस्तेमाल सिर्फ स्थानीय भुगतान में हो सकता है। लेकिन दोनों खातों में जमा रकम पर मिले ब्याज को खाताधारक कहीं भी ले जाने को आजाद है।
  6. NRO account से सालभर में 10 लाख डॉलर तक की निकासी की जा सकती है।
  7. एनआरओ खाते में जमा रकम पर ब्याज भारत में करयोग्य है लेकिन एनआरई खाते के साथ ऐसा कुछ नहीं है।

India में कौन कौन सी बैंक NRE और NRO Account की सेवा देती है :

चलिए मैं आपको कुछ INDIAN BANKS के बारे में बता हूँ जो NRE और NRO account की सुविधा प्रदान करती है. Top 10 indian banks who provides NRE and NRO Account.

  1. Axis Bank
  2. State Bank of India (SBI)
  3. HSBC Bank
  4. YES Bank
  5. ICICI Bank
  6. HDFC Bank
  7. Punjab National Bank (PNB)
  8. Citibank
  9. Canara Bank
  10. South Indian Bank

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here