जब भी कोई नया बंदा वेबसाइट या ब्लॉग बनाना चाहता है तो उसे एक शब्द से परिचित होना पड़ता है वह है Domain Name. आज हम जानेंगे डोमेन नाम क्या है और डोमेन कैसे काम करता हैं? यदि आप एक नौसिखिया हैं, तो आपने सुना होगा कि वेबसाइट बनाने के लिए आपको एक डोमेन की आवश्यकता होती है।

हालाँकि, कई शुरुआती लोग डोमेन नेम और वेबसाइट होस्टिंग में भ्रमित हो जाते है। यदि अप भी नए है तो हो सकता है कि आप भी इन दोनों चीजों को लेकर भ्रमित हो सकते है।

हम जब भी कोई नई वेबसाइट या ब्लॉग बनाना चाहते है तो Domain Name Kya hai? और Domain kaise kam karta hai? इसकी जानकारी का होना बहुत आवश्यक हो जाता है। क्यूंकि आज के समय में वेबसाइट या ब्लॉग के लिए बेस्ट डोमेन नाम कैसे लिया जाता है इसकी भी जानकारी का होना बहुत जरुरी हो जाता है।

डोमेन नाम क्या है? के लेख में हम निम्न विषयों की विस्तृत जानकारी देने वाले है:

डोमेन नाम क्या है? डोमेन नेम कैसे काम करता है? डोमेन कितने प्रकार का होता है? एक अच्छा डोमेन नाम कैसे ख़रीदे?

डोमेन नाम क्या है? What is Domain name in Hindi?

डोमेन नाम किसी भी वेबसाइट का पता होता है, जिसे लोग किसी भी वेबसाइट पर जाने के लिए ब्राउज़र URL बार में टाइप करते हैं।

यदि इसे बहुत ही सरल भाषा में परिभाषित किया जाए तो मान लेते है वेबसाइट एक दूकान होती है तो उसका पता क्या होगा, जी हां डोमेन नेम किसी भी वेबसाइट का पता होता है।

यदि विस्तृत रूप से डोमेन की परिभाषा क्या होती है? यह जानना हो तो यह इस प्रकार से होगी:

इन्टरनेट एक दुसरे से जुड़े कई कंप्यूटरों का जाल है जो राउटर एवं सर्वर के माध्यम से दुनिया के किसी भी computer को आपस में जोड़ता है.

इन कंप्यूटरों की पहचान करने के लिए प्रत्येक कंप्यूटर को एक विशेष IP Address दिया जाता है। यह संख्याओं की एक श्रृंखला होती है जो किसी भी कंप्यूटर की पहचान करती है। एक विशिष्ट आईपी पता कुछ इस तरह से होता है

किसी भी वेबसाइट को उसके आईपी एड्रेस से याद करना काफी मुश्किल होता है। इस मुश्किल का समाधान निकलने के लिए डोमेन नाम का अविष्कार हुआ।

यह डोमेन नेम किसी वेबसाइट की आईपी एड्रेस के लिए एक मास्क यानि मुखौटे की तरह काम करता है। उदाहरण के लिए हम google.com को आसानी से याद रख सकते है जबकि google का ip address 216.58.197.46 है जिसे हमें याद रखने में कितनी मेहनत पड़ेगी यह आप खुद ही समझ सकते है।

डोमेन नाम की आवश्यकता क्यों होती है?

Domain name क्या है यह समझ लेने के बाद डोमेन नाम की आवश्यकता क्यों होती है? यह आपको बड़ी ही आसानी से समझ में आ गया होगा। फिर भी एक लाइन में समझा देता हूँ की डोमेन नेम किसी भी वेबसाइट का एक पता होता है। किसी भी वेबसाइट के आईपी एड्रेस को याद रखना काफी मुश्किल होता है इसलिए आईपी मास्किंग के लिए डोमेन नाम की आवश्यकता होती है।

डोमेन नाम कैसे काम करता है?

डोमेन नेम कैसे काम करता है यह समझने के लिए हमें शुरू से समझना होगा। हम जब किसी ब्राउज़र में किसी वेबसाइट का डोमेन नेम डालकर उसे खोलते है तो यह सबसे पहले सर्वर के global network को request भेजता है जो डोमेन नेम सिस्टम (DNS) बनाता है।

इसके बाद यह डोमेन से जुड़े Name Server को ढूंढता है और उस नेम सर्वर की रिक्वेस्ट को आगे भेज देता है। यहाँ पर इसे एक छोटे से उदाहरण से समझने की कोशिश करते है।

हम जब भी किसी कंपनी से होस्टिंग खरीदते है तो होस्टिंग प्रोवाइडर हमें होस्टिंग सर्वर का एक Name सर्वर देती है। हम इस नेम सर्वर को अपने डोमेन के DNS में डालते है। जो डोमेन को होस्टिंग से कनेक्ट करता है। मान लेते है हमने Hostinger से होस्टिंग खरीदी है तो हमें hostinger से मिलने वाला नेम सर्वर कुछ इस तरह से होगा।

DNS उदाहरण:

ns1.dns-parking.com
ns2.dns-parking.com

ये नाम सर्वर होस्टिंग कंपनी द्वारा प्रबंधित कंप्यूटर हैं। आपकी होस्टिंग कंपनी आपके अनुरोध को उस कंप्यूटर पर पर भेजती है जहां आपकी वेबसाइट होस्ट है। इस कंप्यूटर को वेब सर्वर कहा जाता है। वेब सर्वर अब वेब पेज और उससे जुड़ी जानकारी को प्राप्त करता है। और इसे वापस यूजर के ब्राउज़र में शो कर देता है।

डोमेन नाम सिस्टम क्या है?

डोमेन नेम सिस्टम (डीएनएस) एक नामकरण डेटाबेस है जिसमें इंटरनेट डोमेन नाम स्थित होते हैं और इंटरनेट प्रोटोकॉल (आईपी) पते में अनुवादित होते हैं। डोमेन नाम प्रणाली उस नाम को मैप करती है जिसका उपयोग लोग किसी वेबसाइट का पता लगाने के लिए उस आईपी पते पर करते हैं जिसका उपयोग कंप्यूटर उस वेबसाइट का पता लगाने के लिए करता है।

उदाहरण के लिए, यदि कोई वेब ब्राउज़र में “example.com” टाइप करता है, तो परदे के पीछे का सर्वर उस नाम को संबंधित आईपी पते पर मैप करता है। एक IP पता संरचना में 103.0.123.52 के समान होता है।

डोमेन कितने प्रकार का होता है?

चले अब यह भी जान लेते है डोमेन कितने प्रकार का होता है? डोमेन नाम कई अलग-अलग एक्सटेंशन में उपलब्ध हैं। जिनमे सबसे लोकप्रिय एक्सटेंशन .com है। इसके अलावा कई और भी पोपुलर एक्सटेंशन जैसे .org, .net, .edu इत्यादि.

Domain Name Kya Hai
Domain Name Kya Hai

आइए अब हम विभिन्न प्रकार के डोमेन नामों के बारे में थोडा और ज्यादा जानते है।

Free website Kaise Banate Hai

TLD – Top Level Domains

Top level domain name को Internet के शुरुवाती दौर में develop किया गया था. Top level domain name के through आप easily High ranking पा सकते है and globe search engines Top level domain को ही ज्यादा important देते है.

Example Of TLD domains –

  • .Com (commercial)
  • .Net (Network)
  • .org (organization)
  • .gov (government)
  • .edu – (educational) etc.

Country Code Top Level Domains – ccTLD

Generally अगर आप किसी particular country area को focus करना चाहते है,तो यह domain name आपके लिए best होगा. इसमें आपको हर एक country के लिए अलग-अलग domains name मिलते है. जैसे की नीचे कुछ domain extension दिए है –

  • .In(India)
  • .Gb(great britain)
  • .Au(Australia)
  • .Us(United state america) etc.
  • .Uk (United Kingdom)

Sponsored Top Level Domain या sTLD टीएलडी की एक श्रेणी है जिसमें एक प्रायोजक होता है जो डोमेन एक्सटेंशन द्वारा प्रदत्त एक विशिष्ट समुदाय का प्रतिनिधित्व करता है।

उदाहरण के लिए, शिक्षा से संबंधित संगठनों के लिए .edu, संयुक्त राज्य सरकार के लिए .gov, संयुक्त राज्य की सेना के लिए .mil, और बहुत कुछ।

SubDomain Name

Sub domain हमारे main domain name का हिस्सा होता है जिसे हम एक चाइल्ड डोमेन भी कह सकते है। आप कोई भी domains name खरीद कर उसे किसी भी subdomain names में बदल सकते है. उदाहरण के लिए kyahai.net मेरा ccTLD name है, और मैं इसे ifsc-code.kyahai.in में भी बदल कर सकता हूँ. इसके लिए आपको कोई भी चार्ज नहीं देना पड़ता.

Domain name Extension Full Form

दोस्तों क्या आप Domain name Extension के Full Form जानते है। जैसे की .com का full form क्या होता है या फिर .org का फुल फॉर्म क्या होता है? चलिए मैं यहाँ पर आपको कुछ प्रचलित एक्सटेंशन के फुल फॉर्म बताने जा रहा हूँ।

Abbreviation (Extensions)Full Forms
.comCommercial Internet Sites
.netInternet Administrative Site
.orgOrganization Site
.eduEducation Sites
.firmBusiness Site
.govGovernment Site
.intInternational Institutions
.milMilitary Site
.mobiMobile Phone Site
.intInternational Organizations site
.ioIndian Ocean (British Indian Ocean Territory)
.milU.S. Military site
.govGovernment site
.storeA Retail Business site
.webInternet site
.inIndia
.auAustralia
.aeArab Emirates
.saSaudi Arabia
.usUnited States
.ukUnited Kingdom
.khCambodia
.thThailand
.cnChina
.vnVietnam
.jpJapan
.sgSingapore
.nzNew Zealand
.myMalaysia
Domain name Extension Full Form

एक अच्छा डोमेन नेम कैसे ख़रीदे?

दोस्तों आज के समय में करीब करीब 350 मिलियन से अधिक डोमेन रजिस्टर हो चुके है। और प्रतिदिन हजारों डोमेन बिकते जा रहे है। जिसकी वजह से एक अच्छे डोमेन का चुनाव करना बहुत कठिन होता जा रहा है।

मैं यहाँ आपको एक अच्छा डोमेन नेम चुनने के लिए कुछ तरीके बताने जा रहा हूँ जिसकी मदद से आप एक अच्छा डोमेन नेम चुन सकते है।

  • कोशिश करे कि आप .com डोमेन नाम खरीदने की कोशिश करे, क्योंकि यह सबसे अधिक लोकप्रिय और याद रखने में आसान है।
    डोमेन नाम छोटा और आसान रखे इससे यूजर को इसे याद रखना आसान रहता है।
  • डोमेन में नंबर इत्यादि का प्रयोग करने से बचे।
  • एक अच्छे डोमेन नाम का चुनाव करने के लिए डोमेन नाम जनरेटर का प्रयोग करे।

एक अच्छा डोमेन नेम कैसे ख़रीदे करे इसे विस्तृत रूप से जानने के लिए हमारा लेख डोमेन नाम कैसे ख़रीदे पढ़ें।

डोमेन नाम रजिस्ट्रेशन कहाँ से करे?

जब हम एक अच्छा डोमेन नाम चुन लेते है तो उसके बाद हमारे दिमाग में एक बात आती है कि डोमेन नाम रजिस्ट्रेशन कहाँ से करे? वैसे तो डोमेन नेम रजिस्टर करने वाली बहुत सी कंपनियां है जहाँ से हम डोमेन नाम रजिस्ट्रेशन कर सकते है। यहाँ कुछ बेस्ट डोमेन सेलर कंपनियों के नाम दिए है जहाँ से आप बड़ी आसानी से Domain रजिस्टर कर लेंगे। यह डोमेन बेचने वाली कंपनियां निम्न प्रकार से है।

  • Google
  • Godaddy
  • Bigrock
  • Hostinger
  • Namecheap
  • Resellerclub
  • Bluehost

उपरोक्त सभी कंपनियां trusted और verified है। इन सभी का कस्टमर सपोर्ट बहुत अच्छा है। आप इन कंपनियों से बड़ी ही आसानी से डोमेन रजिस्टर कर सकते है।

वेब सर्वर और डोमेन नाम में अंतर क्या है?

कोई भी वेबसाइट HTML पेज, Css, वेबसाइट बिल्डर सॉफ्टवेयर (CMS), इमेज और बहुत सारी फाइलों से बनी होती है।

जबकि डोमेन नाम किसी वेबसाइट का वेब पता होता है, और वेब होस्टिंग वह जगह होती है जहां आपकी वेबसाइट का सारा डेटा स्टोर होता है।

वेब सर्वर एक वास्तविक कंप्यूटर होता है जिसमे किसी भी वेबसाइट की फ़ाइलें संग्रहीत की जाती हैं। ऐसे कंप्यूटरों को सर्वर कहा जाता है और उन्हें होस्टिंग कंपनियों द्वारा एक सेवा के रूप में पेश किया जाता है।

किसी भी वेबसाइट को बनाने के लिए डोमेन नाम और वेब होस्टिंग दोनों चीजों की आवश्यकता पड़ती है।

वेब होस्टिंग और डोमेन नाम दोनों अलग अलग तरह की सेवाएं होती है। आप इन्हें किसी एक या फिर अलग अलग कंपनियों से खरीद सकते है।

About What is Domain Name in Hindi?

आशा करता हूँ यह लेख पढने के बाद आपने अच्छे से समझ लिया होगा डोमेन नाम क्या है और डोमेन कैसे काम करता है। यदि आप Blog Website के लिए अच्छा Domain Name कैसे ख़रीदे? यह जानना चाहते है तो इस लेख को पूरा पढ़ें आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी।

Previous articleLIC Insurance Agent कैसे बने ? जाने क्या है Process hindi में
Next articleCloud computing किसे कहते है 2022? Cloud Computing meaning in Hindi
कुलदीप मनोहर Kyahai.net हिंदी ब्लॉग के Founder हैं. मै एक Professional Blogger हूँ और SEO, Technology, Internet से जुड़े विषयों में रुचि रखता हूँ. अगर आपको ब्लॉगिंग या Internet जुड़ी कुछ जानकारी चाहिए, तो आप यहां बेझिझक पुछ सकते है. हमारा यह मकसद है के इस ब्लॉग पे आपको अच्छी से अच्छी जानकारी मिले.

4 COMMENTS

Comments are closed.