Maa Shayari in hindi Mothers Day : माँ शायरी

Maa Shayari in hindi Mothers Day: दुनिया का सबसे भावनात्मक शब्द है माँ. बच्चा जब पैदा होता है तो उसके मुह से जो सबसे पहला शब्द निकलता है वो है माँ.

सिर्फ इंसान ही नहीं हम अगर जानवरों की भाषा में बोले तो गाय, भैस, बकरी इत्यादि के बच्चो के मुख से माँ शब्द ही निकलता है. माँ शब्द जितना छोटा है उसका भाव उतना ही बड़ा है.

यह दुनिया का एक मात्र शब्द है जिसकी व्याख्या कोई भी नहीं कर सकता. जिसकी माँ है वो माँ की कीमत जनता है और जिसकी माँ नहीं है वो भी माँ की कीमत जानता है.

हमारे देश में माँ के लिए के प्रति सम्मान व्यक्त करने या प्रेम का भाव को जताने के लिए किसी एक विशेष दिन की जरुरत नहीं होती है. Mothers Day तो उनके लिए है जो अपनी माँ से दूर होते है, या उनसे मिलने को तरसते है. तो आइये माँ को समर्पित करते हुए आज Hindi Shayari में हम लेकर आये है- Maa Shayari in Hindi

Maa Shayari in hindi Mothers Day: माँ शायरी

गिनती नही आती मेरी माँ को यारों,
मैं एक रोटी मांगता हूँ वो हमेशा दो ही लेकर आती है.☺

Maa Shayari in hindi Mothers Day

जन्नत का हर लम्हा….दीदार किया था
गोद मे उठाकर जब मॉ ने प्यार किया था

सब कह रहें हैं
आज माँ का दिन है
वो कौन सा दिन है..
जो मां के बिन है

सन्नाटा छा गया बटवारे के किस्से में…????
जब माँ ने पूछा मैं हूँ किसके हिस्से में…..!!!

✍…. घर की इस बार मुकम्मल तलाशी लूंगा!
पता नहीं ग़म छुपाकर हमारे मां बाप कहां रखते थे…?????

एक अच्छी माँ हर किसी
के पास होती है लेकिन…

एक अच्छी औलाद हर
माँ के पास नहीं होती…

जब जब कागज पर लिखा , मैने ‘माँ’ का नाम
कलम अदब से बोल उठी , हो गये चारो धाम

माँ से छोटा कोई शब्द हो तो बताओ
उससे बडा भी कोई हो तो भी बताना…..

Maa पर Hindi Shayari : माँ शायरी

मंजिल दूर और सफ़र बहुत है .
छोटी सी जिन्दगी की फिकर बहुत है .
मार डालती ये दुनिया कब की हमे .
लेकिन “माँ” की दुआओं में असर बहुत है .

माँ को देख,
मुस्कुरा लिया करो..
क्या पता किस्मत में चारो धाम
लिखा ही ना हो*

​मौत के लिए बहुत रास्ते हैं ​पर….
जन्म लेने के लिए ​केवल
माँ​​ ✍
माँ के लिए क्या लिखूँ ? माँ ने खुद मुझे लिखा है ✍

दवा असर ना करें तो
नजर उतारती है
माँ है जनाब…
वो कहाँ हार मानती है।

लबों पर उसके बद्दुआ नहीं होती
बस एक माँ है जो मुझसे खफा नहीं होती

Mothers day Hindi Shayari माँ शायरी

मांग लूँ यह मन्नत की फिर यही जहान मिले
फिर वही गोद, फिर वही माँ मिले

सर पर जो हाथ फेरे तो हिम्मत मिल जाये
माँ एक बार मुस्कुरा दे तो जन्नत मिल जाये

अब भी चलती है जब आंधी कभी गम की
माँ की ममता मुझे बाहों में छुपा लेती है.

बस एक माँ ही ऐसी होती है
जो पहचान लेती है आँखें…
सेने से लाल है या रोने से

मिलने को तो हजारों लोग मिल जाते है,
लेकिन हजारों गतियाँ माफ़ करने वाले “माँ-बाप” दोबारा नहीं मिलते.

मैंने माँ से पुचा कंप्यूटर इतने स्मार्ट क्यूँ होते है ?
माँ ने जवाब दिया कि कंप्यूटर अपने मदरबोर्ड की सुनते है.

तुम क्या सिखाओगे मुझे यार करने का तरीका
मैंने माँ के एक हाथ से थप्पड़ और दुसरे हाथ से रोटियां खायी है

बूढ़े हो जाते है माँ बाप औलाद की खुशियों की फ़िक्र में
औलाद समझती है कि उम्र का असर है.

स्सिधा सादा भोला-भाला मैं ही सब से सच्चा हूँ
कितना भी हो जून बड़ा माँ आप भी तेरा बच्चा हूँ.

जब जब कागज़ पर लिखा माँ का नाम
कलम स्नेह से बोली हो गए चारो धाम

सन्नाटा चा गया बटवारा के किस्से में
जब माँ बोली मैं हूँ किसके हिस्से में

Shayari in Hindi में पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here