भारत के 10 सबसे महंगे शहर कौन से है? आज के इस भाग दौड़ के जीवन में हर कोई अपनी बेहतर शिक्षा और अच्छी आर्थिक आय को बढ़ानें के लिए गांव से शहरों की ओर तेजी से आ रहे हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 30% आबादी महानगरीय तथा शहरों इलाके में रहती है, साथ ही बड़े बड़े महानगरों में रहने की लागत में तेजी से वृद्धि हो रही है। इस पोस्ट में भारत के 10 सबसे महंगे शहरों का उल्लेख करने वाले हैं तो आइए जानते हैं..

भारत के 10 सबसे महंगे शहर कौन से है?

भारत के सबसे महंगे शहरों की सूचि का आधार मध्यम वर्ग के लोगों को धयान में रख कर लिखा गया है। उच्च वर्ग के लिए इस प्रकार के महंगे शहर भी कतई महंगे नहीं है क्यूंकि उनकी आमदमी भी एक माध्यम वर्ग से कई गुना ज्यादा होती है। जहाँ छोटे शहरो और ग्रामीण क्षेत्रों के लोग 10-12 हजार रूपये प्रतिमाह में अपने घर का खर्च चला लेते है वहीँ इन शहरों में 10-12 हजार रुपयों में घर चलाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। चलिए जानते है भारत के 10 सबसे महंगे शहरों के बारे में।

मुंबई – Mumbai City

महाराष्ट्र की राजधानी मुम्बई भारत के सबसे महंगे शहरों की सूची में पहले स्थान पर आता है। मुम्बई को भारत का आर्थिक राजधानी भी कहा जाता है. इस शहर को महाराष्ट्र सरकार द्वारा सन् 1971 में, नवी मुंबई की एक नई शहरी बस्ती के रूप में प्रस्तावित किया गया था. मुम्बई में रिलायंस, ब्यूरो वेरिटास, बेसरबा, मैकडॉनल्ड्स कार्पोरेशन, एक्सेचर, मॉर्निंगस्टार जैसे विभिन्न बहुराष्ट्रीय कंपनियाँ का इसी शहर में प्रमुख कार्यालय/शाखाएं है। मुम्बई वह शहर है जहाँ लोग अपने सपनों को पूरा करने जाते है। इस शहर में लोग प्रतिदिन अपने उज्ज्वल भविष्य की कामना लेकर आते हैं। परन्तु इस शहर में कम पैसों में गुजारा करना काफी मुश्किल है। मुंबई में रहने का खर्चा बहुत ज्यादा है। मुंबई में आय के बहुत से स्रोत उपलब्ध है लेकिन यहाँ रहने की जगह बहुत कम है जिसका प्रमुख कारण इसका तीन तरफ से समुद्र से घिरा होना है। मुंबई जैसे शहर में साधारण जीवन जीने के लिए भी आपको एक परिवार के लिए प्रतिमाह 30 से 50 हजार रूपये खर्च करने होंगे।

दिल्ली – Delhi City

दिल्ली भारत की राजधानी है जोकि एक केंद्रशासित प्रदेश है। भारत के सबसे महंगे शहरों कि सूची में दिल्ली दूसरे स्थान पर आता है। यहां की बढ़ती आबादी के कारण यहां रहने खाने का खर्चा भी बढ़ गया है। दिल्ली में बहुत से पॉश इलाके हैं जहां पर रहने का खर्चा और भी ज्यादा है। दिल्ली देश की राजधानी होने के कारण यहां बहुत से लोग नौकरी की तलाश में आते हैं। दिल्ली जैसे शहर में एक औसत परिवार को चलाने के लिए आपको 30-40 हजार रूपये खर्च करने होंगे। इस प्रकार यह भारत का दूसरा सबसे महंगा शहर है।

बेंगलुरु – Bengaluru City

बैंगलोर कर्नाटक की राजधानी है। बैंगलोर शहर भी भारत के सबसे विकसित शहरों में से एक माना जाता है। भारत की दूसरी और तीसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनियों का मुख्यालय इस शहर में स्थित है। बेंगलुरु में बड़ी बड़ी कंपनियों के ऑफिस है, जिसके कारण देश दुनिया के लोग यहां नौकरी करने आते हैं। बढ़ती जनसंख्या के कारण यहाँ रहना या खाना बहुत ही महंगा है। एक माध्यम वर्गीय परिवार को यहाँ रहने के लिए प्रतिमाह करीब 30 से 35 हजार रूपये खर्च करने पड़ेंगे। इस हिसाब से बेंगलुरु भारत का तीसरा सबसे महंगा शहर है।

हैदराबाद – Hyderabad City

हैदराबाद तेलंगाना राज्य की राजधानी है. इस शहर को मोतियों का शहर और निजाम के शहर के रूप में जाना जाता है। हैदराबाद औषधीय उद्योग का एक प्रमुख केंद्र है. यह शहर दुनिया का सबसे तेजी से विकसित होने वाले शहरों की सूची में शामिल है। हैदराबाद में एक माध्यम वर्गीय परिवार को घर चलाने के लिए औसतन 25-30 हजार रूपये महीने खर्च करने पड़ेंगे। इसी वजह से यह शहर भारत के सबसे महंगे शहरों से शामिल है।

चेन्नई – Chennai City

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई को भारत के सबसे महंगे शहरों में से एक माना जाता है. यह शहर समुन्द्र तट और पर्यटक का एक प्रमुख केंद्र भी है. चेन्नई शहर भारत की अर्थव्यवथा में काफी बड़ा योगदान निभाता हैं। यह शहर चिकित्सा, पर्यटन सॉफ्टवेयर सेवाओं और उद्योगों के लिए जाना है। चेन्नई शहर में रहने के लिए एक माध्यम वर्ग के परिवार को औसतन 20-25 हजार रूपये महीने कर्च करने पड़ेंगे। इस हिसाब से चेन्नई भारत का पांचवां सबसे महंगा शहर है।

कोलकाता – Kolkata City

कोलकाता भारत का दूसरा सबसे बड़ा महानगर तथा पांचवा सबसे बड़ा बंदरगाह है. कोलकाता शहर को सिटी ऑफ जॉय कहा जाता है. कोलकाता शहर भारत के सबसे महंगे शहरों में से एक है। कोलकाता शहर को भारत के महलों का नगर भी कहा जाता है. यहां में प्रमुख यातायात केंद्र, शिक्षा केंद्र, औद्योगिक केंद्र, विस्तृत बाजार की वितरण तथा व्यापार केंद्र है। इस शहर में में एक मध्यमवर्ग के परिवार को प्रति महीना औसत करीब 20-22 हजार रूपये खर्च करने पड़ते है। इस शहर के परिवहन, रेलवे नेटवर्क में काफी तेजी से सुधार हो रहा है। यह शहर अपनी मेट्रो रेल की मदद से अपनी सीमाओं को विस्तार पर काम कर रहा है।

पुणे – Pune City

पुणे भी भारत का सबसे अमीर शहरों में से एक है. पुणे शहर में अनेक प्रौद्योगिकी और ऑटोमोबाइल केंद्र है. इसलिए पुणे शहर भारत को डेट्राइट जैसा लगता है। पुणे शहर भारत का एक महत्वपूर्ण औद्योगिक केंद्र है। इस शहर में टाटा मोटर्स, बजाज ऑटो, भारत फोर्स जैसे उत्पादक क्षेत्र के अनेक बड़े उद्योग स्थापित है। पुणे में रहने के लिए एक साधारण परिवार को भी प्रति महीने 15-20 हजार रूपये खर्च करने पड़ेंगे। इस शहर को भारत का पूरब “ऑक्सफोर्ड” कहा जाता है। पुणे भारत का छठा सबसे बड़ा शहर व महाराष्ट्र का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। यह भारत का सातवां सबसे महंगा शहर है।

अहमदाबाद – Ahmedabad City

अहमदाबाद गुजरात का सबसे बड़ा और देश का सातवां सबसे बड़ा शहर है। गुजरात का यह शहर भारत में एक महत्वपूर्ण आर्थिक और औद्योगिक केन्द्र के रूप में जाना जाता है। एक समय तक अहमदाबाद गुजरात की राजधानी हुआ करती थी। यह सूती वस्त्र उद्योग तथा अन्य लघु उद्यमों का बहुत बड़ा केंद्र है। यह भारत का आठवाँ सबसे महंगा शहर है।

चंडीगढ़ – Chandigarh City

चंडीगढ़ भारत के सबसे महंगे शहरों में नौवें स्थान पर आता है। यह एक केंद्र शाशित प्रदेश है, जो पंजाब और हरियाणा राज्यों की राजधानी है। इस शहर में बहुत से औद्योगिक कारखाने स्थापित है जहाँ लोग भरी संख्या में काम करने के लिए पूरे देश से कामगार आते है। इस शहर में अप्रवासियों की संख्या ज्यादा होने के कारण यह काफी महंगा शहर है। इस शहर में एक माध्यम वर्गीय परिवार को रहने के लिए कम से कम 18 से 20 हजार महीने खर्च करना पड़ेगा।

जयपुर – Jaipur City

जयपुर राजस्थान कि राजधानी है जिसे “पिंक सिटी” के नाम से भी जाना जाता है। जयपुर शहर में बहुत से टूरिस्ट प्लेस है जिसके कारण यहां हर साल देश – विदेश से काफी लोग घूमने आते हैं। यहां के मुख्य उद्योगों में वस्त्र, कपड़े कि छपाई, रत्न एवं आभूषण, संगमरमर, हस्त कला, धातु का आयात-निर्यात का मुख्य उद्योग है। जयपुर को भारत का “पेरिस” भी कहा जाता है। ये शहर भी भारत के सबसे महंगे शहरों में एक है। इस शहर में मे एक माध्यम वर्गीय परिवार को रहने के लिए प्रतिमाह कम से कम 15-20 हजार रूपये खर्च करने पड़ेंगे। यह भारत का दसवां सबसे महंगा शहर है।

Bharat ka sabse Mahnga Shahar:

दोस्तों उपरोक्त जानकारी एक मध्यम परिवार को ध्यान में रखकर दी गयी है। भारत के सबसे महंगे शहर के पाश इलाके में रहने का खर्च प्रति महीने लाखों रुपयों में हो सकता है। दोस्तों जहाँ छोटे शहरों या ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोग प्रतिमाह 10-12 हजार रूपये में अपने घर का खर्च चला लेते है। वहीँ इन शहरों में एक माध्यम वर्गीय परिवार को 20-30 हजार खर्च करने पड़ते है जो कि एक आम आदमी के लिए बहुत ही ज्यादा होते है। दोस्तों आप किस शहर से है और आप के घर का खर्च प्रतिमाह कितने रूपये का है हमें कॉमेंट्स में जरुर बताएं। आपको यह जानकारी कैसी लगी यह भी जरुर बताएं।

जय हिन्द जय भारत

Previous articleभारत का सबसे अमीर राज्य कौन सा है? 2021
Next articleFmovies 2021 Watch Or Download Free Movies

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here