Worlds largest temple Hindi 2021: क्या आप जानते है दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कौन सा है और यह कहां बना है? दोस्तों पूरी दुनिया में भारत, नेपाल और मारीशस जैसे देश ही हिन्दू बाहुल्य देश है. लेकिन क्या आप जानते है भारत जो पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा मंदिरों वाला देश है इसके बावजूद भी दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर भारत, नेपाल जैसे देशों में ना होकर दुनिया के किसी और देश में स्थित है.

अगर आप इस बात को नहीं जानते थे, तो यह आपके लिए आश्चर्य की बात हो सकती है. आज के इस लेख में हम दुनिया के 10 सबसे बड़े मंदिरों के बारे में जानेगे. तो चलिए शुरू करते है..

दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर: Worlds largest temple

आज के इस लेख में हम क्षेत्रफल के आधार पर दुनिया के सबसे बड़े मंदिर (worlds largest temple) के बारे में जानेगे. इसके पूर्व के लेख में हमने भारत का सबसे अमीर मंदिर कौन सा है? Richest Temple in India के बारे में जाना था.

1. अंकोरवाट मंदिर, कंबोडिया

अंकोरवाट मंदिर, कंबोडिया
अंकोरवाट मंदिर, कंबोडिया

दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर अंकोरवाट मंदिर है। यह मंदिर कबोडिया देश के अंकोर में स्थित है। जिसका पुराना नाम यशोधरपुर था। यह मंदिर करीब 402 एकड़ में फैला हुआ है। इस मंदिर का निर्माण 12वीं सताब्दी में राजा सूर्यवर्मन द्वितीय जी ने किया था। आज वर्तमान में कम्बोडिया में हिन्दू आबादी मात्र .03 प्रतिशत है। लेकिन वहां मौजूद हिन्दू मंदिरों को देख कर लगता है कि 15 शताब्दी तक कम्बोडिया में हिन्दू आबादी बाहुल्य थी।

2. स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर न्यू जर्सी, अमेरिका

स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर न्यू जर्सी, अमेरिका
स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर न्यू जर्सी, अमेरिका

स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर अमेरिका के न्यू जर्सी में स्थित है। इस मंदिर को स्वामीनारायण संस्था के द्वारा बनवाया गया है। ये मंदिर विश्व का दूसरा सबसे बड़ा मंदिर है। इसका क्षेत्रफल करीब 163 एकड़ में फैला हुआ है। इस मंदिर बनवाने में आई लागत लगभग एक हजार करोड़ रूपये है। इस मंदिर को 2014 में दर्शन करने के लिए खोला गया था।

3. श्री रंगनाथस्वामी मंदिर, तमिलनाडु

श्री रंगनाथस्वामी मंदिर, तमिलनाडु
श्री रंगनाथस्वामी मंदिर, तमिलनाडु

श्री रंगनाथस्वामी भारत के तमिलनाडु राज्य के तिरूचिरापल्ली शहर में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण 8 या वीं 9वीं सताब्दी के दौरान किया गया था। यह मंदिर क्षेत्रफल के दृष्टि से विश्व का तिसरा सबसे बड़ा मंदिर है। ये मंदिर करीब 156 एकड़ में फैला हुआ है। और यह मंदिर भगवान विष्णु जी को समर्पित है। इस मंदिर के प्रमुख द्वार को राजगोपुरम कहा जाता है। और इस दीवार के उचाई 236 फुट 72 मीटर है। यह दुनिया का तीसरा और भारत का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर है.

4. श्री राम मंदिर, उत्तर प्रदेश

श्री राम मंदिर, उत्तर प्रदेश
श्री राम मंदिर माडल , उत्तर प्रदेश

श्री राम मंदिर उत्तर प्रदेश के अयोध्या में स्थित है। यह मंदिर विश्व का चौथा और भारत का दूसरा सबसे बड़ा मंदिर है। श्री राम जन्म भूमि को लेकर सैकड़ों सालों तक विवाद चलता रहा था। जिसके बाद 5 अगस्त 2020 को भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा इस मंदिर का भूमि पूजन किया गया था. यह मंदिर करीब 108 एकड़ में फैला हुआ है।

5. छतरपुर मंदिर, दिल्ली

छतरपुर मंदिर, दिल्ली
छतरपुर मंदिर, दिल्ली

छतरपुर मंदिर मंदिर भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण 1974 में बाबा संत रामपाल जी के द्वारा बनवाया गया था। यह मंदिर लगभग 70 एकड़ में फैला हुआ है। दरअसल कहने को यह सिर्फ एक ही मंदिर है लेकिन इस मंदिर के प्रांगण में कई एक मंदिरों का समूह है। जिसमे 101 फीट ऊँची हनुमान जी की मूर्ति सबसे ज्यादा दर्शनीय है। यह दुनिया का पांचवा और भारत का तीसरा सबसे बड़ा मंदिर है.

6. अक्षरधाम मंदिर, दिल्ली

अक्षरधाम मंदिर, दिल्ली
अक्षरधाम मंदिर, दिल्ली

यह मंदिर भी भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित दुनिया का छठा और भारत का चौथा सबसे बड़ा मंदिर है। इस मंदिर को भी 2005 में स्वामीनारायण संस्थान द्वारा बनाया गया था। ये मंदिर करीब 59 एकड़ में फैला हुआ है। इस मंदिर के निर्माण के लिए 3,000 स्वयंसेवकों और करीब 7,000 कारीगरों ने मिलकर बनाया था।

7. बेसाकी मंदिर, इंडोनेशिया

बेसाकी मंदिर, इंडोनेशिया
बेसाकी मंदिर, इंडोनेशिया

बेसाकी मंदिर दुनिया सातवां और भारत का पांचवा सबसे बड़ा मंदिर है. यह मंदिर भी इंडोनेशिया के बाली में स्थित है। यह मंदिर छह हिस्सों में बनाया गया था। यह हिस्से एक सीढ़ीनुमा ढलान की तरह बने हुए है। यह मंदिर लगभग 49 एकड़ में फैला हुआ है। यहां बालनी मंदिरों की एक पूरी श्रृंखला है। इंडोनेशिया में हिन्दू मंदिरों का इतिहास काफी पुराना है। यहाँ पर स्थित हिदू मंदिरों का निर्माण चौथी से 15वी शताब्दी के आस-पास का है.

8. बेलूर मठ, पश्चिम बंगाल

बेलूर मठ, पश्चिम बंगाल
बेलूर मठ, पश्चिम बंगाल

बेलूर मठ रामकृष्ण मंदिर – यह मंदिर पश्चिम बंगाल के हावड़ा में स्थित है। इस मंदिर निर्माण की स्थापना स्वामी विवेकानंद द्वारा 1935 ईसवी में की गयी था। यह विश्व का आठवा और भारत का छठा सबसे बड़ा मंदिर है जो, लगभग 40 एकड़ में फैला हुए है। यह मंदिर रामकृष्ण परमहंस के मुख्यालय के रूप में भी जाना जाता है। यह मंदिर हुगली नदी के पश्चिमी तट पर बना हुआ है।

9. थिल्लई नटराज मंदिर, तमिलनाडु

थिल्लई नटराज मंदिर, तमिलनाडु
थिल्लई नटराज मंदिर, तमिलनाडु

थिल्लई नटराज मंदिर यह भारत के तमिलनाडु राज्य के चिंदबरम नगर में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण 10वीं शताब्दी के आस पास किया गया था। ये मंदिर भगवान शिव जी को समर्पित है। यह मंदिर 40 एकड़ में फैला हुआ है। इस मंदिर में गणेश जी विष्णु जी आदि देवी देवताओं का भी मंदिर है। यह विश्व का 9वां और भारत का सातवां सबसे बड़ा मंदिर है.

10. प्रम्बानन, त्रिमूर्ति मंदिर

प्रम्बानन, त्रिमूर्ति मंदिर
प्रम्बानन, त्रिमूर्ति मंदिर

प्रम्बानन मंदिर दुनिया का दसवां सबसे बड़ा मंदिर है. यह मंदिर भी इंडोनेशिया के मध्य जावा क्षेत्र में स्थित है. इस मंदिर में ब्रम्हा, विष्णु और महेश भगवन की मूर्तियाँ स्थापित है, जिसकी वजह से इस मंदिर को प्रम्बानन त्रिमूर्ति मंदिर कहा जाता है. ऐसा माना जाता है कि इस मंदिर का निर्माण 9वीं शताब्दी में किया गया था। यह मंदिर लगभग 38 एकड़ में फैला हुआ है। ये मंदिर बाकी मंदिरों के तुलना काफी ऊंचा है।

यह भी पढ़ें:

Worlds largest temple:

दोस्तों आज भले ही दुनिया के सबसे बड़े मंदिर भारत में न होकर कम्बोडिया और इंडोनेशिया जैसे देशों में है, जहाँ आज के समय में हिन्दू धर्म को मानने वालों की संख्या न के बराबर है। लेकिन वहां मौजूद 5 शताब्दी से लेकर पंद्रहवी शताब्दी में मध्य बने हिन्दू मंदिरों की मौजूदगी से यह स्पष्ट होता है, कि एक समय इस धर्म को मानने वालों की संख्या पुरे एशिया में सबसे ज्यादा थी.

आपको दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर का लेख कैसा लगा आप हमें कमेंट्स में जरुर बताएं. और दोस्तों इस वेबसाइट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिलकुल भी न भूले. आपके द्वारा किया गया एक शेयर हमारे उत्साह को बढ़ता है.

जय हिन्द जय भारत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here